Sign In With   
Hindi Movie Silsila Dekha Ek Khwab

Dekha Ek Khwab

Dekha Ek Khwab

Singers

 Chorus, Kishore Kumar, Lata Mangeshkar

Composers

 Shiv Hari

Lyricist

 Javed Akhtar

No of plays

 14319

Song Duration

 05:23

Ratings

 
Lyrics of Dekha Ek Khwab by PriyalataPosted:2010-08-06 14:50:01
देखा एक ख़्वाब तो ये सिलसिले हुए
दूर तक निगाहों में हैं गुल खिले हुए
ये ग़िला है आप की निगाहों में
फूल भी हों दर्मियां तो फ़ासले हुए
देखा एक ...

मेरी साँसों में बसी ख़ुशबू तेरी
ये तेरे प्यार की है जादुगरी
तेरी आवाज़ है हवाओं में
प्यार का रँग है फ़िज़ाओं में
धड़कनों में तेरे गीत हैं खिले हुए
क्या कहूँ के शर्म से हैं लब सिले हुए
देखा एक ख़्वाब ...

मेरा दिल है तेरी पनाहों में
अब छुपा लूँ मैं तुझे बाहों में
तेरी तस्वीर है निगाहों में
दूर तक रोशनी है राहों में
कल अगर न रोशनी के काफ़िले हुए
प्यार के हज़ार दीप हैं जले हुए
देखा एक ख़्वाब ...
Lyrics of Dekha Ek Khwab by PriyalataPosted:2010-08-06 14:50:01